National Overseas Scholarship Scheme 2024: विदेश में पढ़ाई के लिए मिल रही स्कॉलरशिप (राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति योजना)

National Overseas Scholarship Scheme : देश के सभी छात्रों को उच्च शिक्षा हासिल हो इसके लिए सरकार द्वारा विभिन्न योजनायें संचालित की जाती है। इसी तरह से केंद्र सरकार ने देश के ऐसे छात्र जो विदेश में जाकर पढ़ाई करने की इच्छा रखते हैं, लेकिन आर्थिक स्थिति बेहतर नहीं होने के कारण नहीं कर पाते, तो उनके सरकार ने नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम शुरू की है। इसे राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति योजना भी कहा जाता है। इसके तहत सरकार विदेश में पढ़ाई करने के लिए छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान करती है। इस योजना के बारे में डिटेल में जानकारी आप हमारे इस पोस्ट के जरिये प्राप्त कर सकते हैं। आइये जानते हैं क्या है यह योजना।

 

Table of Contents

National Overseas Scholarship Scheme 2024

योजना का नाम नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम या राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति योजना
किसने शुरू की भारत सरकार ने
साल 2024
लाभार्थी भारत देश के छात्र
लाभ विदेश में पढ़ाई करने के लिए स्कॉलरशिप
अधिकारिक वेबसाइट https://nosmsje.gov.in/Default.aspx
हेल्पलाइन नंबर 18002021989, 14566

 

नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम 2024

अमीर हो या गरीब सभी को उच्च शिक्षा प्राप्त करने का पूरा हक़ होता है। अधिकतर अमीर घर के बच्चे अपने उच्च शिक्षा विदेश में जाकर पूरी कर लेते हैं, लेकिन जो कमजोर वर्ग के लोग वे इसमें पीछे रह जाते हैं। किन्तु ऐसे लोगों की मदद का जिम्मा अब सरकार ने उठा लिया है। जी हां केंद्र सरकार ने नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप योजना को ऐसे छात्रों के लिए ही शुरू किया है, जो अपनी उच्चा शिक्षा के लिए विदेश जाना चाहते हैं, लेकिन उनकी आर्थिक स्थिति सही नहीं होने के कारण वे ऐसा नहीं कर पाते हैं।

UP Police Bharti

राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति योजना उद्देश्य

इस योजना को शूर करने के पीछे केंद्र सरकार का मुख्य उद्देश्य है, छात्रों की आर्थिक एवं सामाजिक दोनों ही स्थिति को बेहतर बनाना. ताकि सभी का विकास एक साथ और एक समान हो।

 

नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम लाभ एवं विशेषताएं

  • इस योजना का लाभ देश के सभी वर्ग के ऐसे छात्रों को दिया जा रहा है, जो कि आर्थिक रूप से कमजोर हैं। इसमें मुख्य रूप से अनुसूचित जाति, जनजाति, भूमिहीन किसान या मजदूर या पारंपरिक कारीगरों की श्रेणी के छात्र शामिल हैं।
  • इस योजना के तहत लाभार्थियों को अच्छी शिक्षा तो प्राप्त होगी ही, साथ ही उनकी आर्थिक एवं सामाजिक स्थिति बेहतर होगी।
  • इस योजना का लाभ देश भरकर के केवल 100 छात्रों को दिया जाता है। इसके लिए उनकी परीक्षा ली जाती है, हालांकि इस योजना के तहत दी जाने वाली छात्रवृत्ति का 30% महिला उम्मीदवारों के लिए आरक्षित किया गया है। महिला उपलब्ध नहीं होने पर यह स्लॉट पुरुष के लिए open हो जायेगा।
  • इस योजना का लाभ केवल उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए ही छात्रों को दिया जायेगा, यानि ऐसे छात्र जिनका स्नातक नहीं हुआ है, वे इसका लाभ नहीं ले सकते हैं।
  • इसके अलावा यदि किसी छात्र ने पहले से ही मास्टर्स या पीएचडी कर ली है, तो वो भी इसका लाभ नहीं ले सकते हैं।
  • आपको बता दें कि यदि किसी विशेष वर्ष में लिस्ट के अनुसार किसी व्यक्ति की उपलब्धता नहीं होती है तो वह सीट अन्य श्रेणी के उम्मीदवार के लिए खुल जाएगी।
  • जो भारतीय छात्र पहले से ही विदेश में पढ़ाई कर रहा है वह इस योजना का लाभ नहीं ले सकता है।

 

नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम पात्रता

जो आवेदक छात्रवृत्ति के लिए आवेदन कर रहे हैं उन्हें सभी उम्मीदवारों के लिए निर्धारित पात्रता मानदंडों का मिलान करना होगा। जो पात्रता मानदंड के अंतर्गत आता है वह छात्रवृत्ति कार्यक्रम के लिए आवेदन कर सकेगा, इसके लिए पात्रता मानदंड देखें।

  • छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करने वाले आवेदकों के पास भारतीय राष्ट्रीयता होनी चाहिए।
  • जैसा कि हमने आपको बताया कि इस योजना का लाभ भारत का कोई भी छात्र जिसकी आर्थिक स्थिति बेहतर नहीं है प्राप्त कर सकता है।
  • इस योजना का लाभ अनुसूचित जाति, जनजाति, भूमिहीन किसान या मजदूर या पारंपरिक कारीगरों की श्रेणी आदि के छात्रों को ही दिया जायेगा।
  • इस योजना के तहत सरकार छात्रों को उच्च शिक्षा अर्थात मास्टर डिग्री या पीएचडी के कोर्स के लिए भेज रही है। इसलिए इसमें केवल वहीँ लोग ही शामिल हो सकते हैं जो ये कोर्स करना चाहते हैं।
  • एक ही परिवार के केवल दो बच्चों को ही छात्रवृत्ति दी जाएगी।
  • नागरिक की पारिवारिक आय 8 लाख प्रति वर्ष से अधिक नहीं होगी
  • छात्रवृत्ति प्राप्त करने के लिए, आवेदक को योग्यता परीक्षा में 60% या समकक्ष ग्रेड प्राप्त करना होगा।
  • यदि आवेदक पीएचडी के लिए आवेदन कर रहा है तो योग्यता परीक्षा मास्टर होगी और मास्टर डिग्री के लिए योग्यता परीक्षा स्नातक होगी।
  • आयु 35 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए
  • यदि उम्मीदवारों ने भारत या विदेश में किसी विश्वविद्यालय/संस्थान से समान पाठ्यक्रम किया है तो उन्हें छात्रवृत्ति की पेशकश नहीं की जाएगी।
  • ऐसे किसी भी उम्मीदवार को कोई छात्रवृत्ति नहीं दी जाएगी जिन्होंने विदेश में अपनी पढ़ाई पूरी कर ली है और एनओएस योजना के तहत आगे की औपचारिकताएं पूरी नहीं की हैं।

 

वित्तीय सहायता के साथ पुरस्कार की अवधि

पात्र छात्रों को उनके पाठ्यक्रम या शोध के पूरा होने के बाद छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। भारत लौटने के लिए हवाई मार्ग को छोड़कर किसी भी प्रकार की वित्तीय सहायता के बिना निर्धारित अवधि से अधिक प्रवास के विस्तार पर विचार किया जा सकता है। इसके लिए नीचे दी गई अवधि देखें।

पाठ्यक्रम अवधि
पी.एच.डी पाठ्यक्रम 04 वर्ष
स्नातकोत्तर उपाधि 05 वर्ष

 

नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • बैंक खाते की जानकारी
  • स्थानीय निवास का प्रमाण
  • योग्यता परीक्षा की मार्कशीट
  • आयु प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • यदि डिग्री पूरी करने के बाद 6 महीने का अंतराल हो तो गैप सर्टिफिकेट

 

राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति के लिए चयन प्रक्रिया

शीर्ष 500 विश्वविद्यालयों/संस्थानों के अंतर्गत आने वाले किसी भी विदेशी विश्वविद्यालय/संस्थान में प्रवेश के लिए प्रस्ताव प्राप्त करने वाले सभी आवेदकों को छात्रवृत्ति से सम्मानित किया जाएगा। छात्रवृत्ति वर्ष 2023-24 के लिए प्रदान की जाएगी और छात्र छात्रवृत्ति प्राप्त करने के बाद इसे बदल नहीं पाएंगे। यदि आपने पहले ही छात्रवृत्ति या किसी विशेष पाठ्यक्रम का विकल्प चुन लिया है और दूसरे पाठ्यक्रम में जाना चाहते हैं तो आपको उसके लिए फिर से आवेदन करना होगा।

उम्मीदवारों का चयन दो राउंड में किया जाएगा, उम्मीदवारों का चयन मेरिट लिस्ट के आधार पर होगा। विदेशी विश्वविद्यालयों/संस्थानों की क्यूएस रैंकिंग की नवीनतम रैंकिंग के अनुसार, जहां से आवेदकों को प्रवेश के लिए ऑफर लेटर प्राप्त होंगे, उन्हें मेरिट सूची के आधार पर छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। जिस आवेदक के पास विदेशी विश्वविद्यालयों/संस्थानों के लिए ऑफर लेटर है, उसे प्राथमिकता दी जाएगी। और यदि किन्हीं दो छात्रों की क्यूएस रैंकिंग के बीच समानता है तो योग्यता परीक्षा में प्राप्त उनके अंकों के क्रम में प्राथमिकता दी जाएगी जिसके लिए छात्रवृत्ति प्रदान की गई है।

 

नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम अधिकारिक पोर्टल

इस योजना में आवेदन करने के लिए आपको सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्रालय के अधिकारिक पोर्टल में जाना होगा। यही से आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

 

नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम ऑनलाइन आवेदन

  • राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इस अधिकारिक पोर्टल की लिंक पर क्लिक करें।
  • इसके होम पेज में पहुँचने के बाद आपको इसमें खुद को लॉग इन करना होगा, इसके लिए पहले आपको इसमें खुद को रजिस्टर करना होगा।
  • रजिस्टर करने के बाद आप इसमें लॉग इन कर लें।
  • लॉग इन कर लेने के बाद आपको apply under national overseas scholarship पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल कर आयेगा. आपको उसे भरना है।
  • और साथ ही सभी आवश्यक दस्तावेजों को उसमे अपलोड कर देना है।
  • इसके बाद आपको सभी चीजें चेक करना है, और फिर सबमिट बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस तरह से आपका नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप के लिए आवेदन हो जायेगा।

 

स्लॉट का एनओएस श्रेणी-वार वितरण

वर्ग नंबर
अनुसूचित जाति 115
विमुक्त, घुमंतू और अर्ध-घुमंतू जनजातियाँ 06
भूमिहीन कृषि मजदूर और पारंपरिक कारीगर 04
कुल स्लॉट 125

 

राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति दायरा

यह योजना सभी चयनित उम्मीदवारों को मास्टर और पीएचडी पाठ्यक्रमों को आगे बढ़ाने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है। यह पाठ्यक्रम विदेश में अध्ययन के किसी भी क्षेत्र में सरकार द्वारा अधिकृत निकाय द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान/विश्वविद्यालय के लिए प्रदान किया जाता है। प्रत्येक वर्ष 125 पुरस्कारों का वितरण होगा जो इस योजना के तहत दिये जायेंगे।

 

भारतीय मिशन की भूमिका

भारतीय मिशन उन छात्रों के लिए सबसे महत्वपूर्ण भूमिकाओं में से एक निभाता है जिन्हें छात्रवृत्ति मिलेगी, मिशन छात्रों के ट्यूशन शुल्क भत्ते के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करता है। यह भत्ता उनके अधिकार क्षेत्र में पढ़ने वाले सभी छात्रों को प्रदान किया जाएगा। यदि कोई भी छात्र पाठ्यक्रम पूरा करने में विफल रहता है तो आवेदक डिफॉल्टर हो जाएगा और उसे अपने पाठ्यक्रम के लिए खर्च की गई पूरी राशि ब्याज सहित वापस करनी होगी।

यदि अभ्यर्थी के विभाग का प्रमुख यह स्पष्ट करता है कि छात्र ने पढ़ाई में कोई रुचि नहीं दिखाई तो मंत्रालय के पास उसे इस योजना के तहत डिफॉल्टर के दंड खंड से छूट देने का अधिकार होगा। ऐसे मामलों में जहां पाठ्यक्रम पूरा होने के बाद कोई आवेदक एक महीने से अधिक समय तक विदेश में रहता है तो आवेदकों को अपने खर्च पर वहां रहना होगा। उम्मीदवार की प्रगति की नियमित आधार पर जाँच की जाएगी।

 

National Overseas Scholarship Scheme Last Date 2024

नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम के तहत आवेदन करने की शुरुआत 15 फरवरी से होगी। इसकी अंतिम तिथि 45 दिन बाद यानी 31 मार्च 2024 हैं। जो भी इच्छुक लाभार्थी हैं वह इस बीच आवेदन कर सकता है और इस योजना का लाभ ले सकता है।

 

नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम के आवेदन स्थिति देखने की प्रक्रिया

राष्ट्रीय विदेशी छात्रवृत्ति कार्यक्रम के लिए आवेदन करने के बाद आवेदक एनओएस आवेदन की स्थिति देख सकेंगे। अपना आवेदन देखने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया देखें।

  • अपने आवेदन की स्थिति देखने के लिए राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति के आधिकारिक पोर्टल यानी nosmsje.gov.in पर जाएं।
  • साइट पर जाने के बाद, आपको साइट के मुख्य पृष्ठ पर उपलब्ध एप्लिकेशन स्टेटस विकल्प पर टैप करना होगा।
  • एक बार जब आप विकल्प पर क्लिक कर लेंगे तो आपको एक नए पृष्ठ पर पुनः निर्देशित किया जाएगा, जहां आपको आवेदन संदर्भ संख्या दर्ज करनी होगी।
  • अब जब आप डिटेल डाल देंगे तो आपको व्यू ऑप्शन पर टैप करना होगा।
  • अब आप अपने आवेदन की स्थिति जांच सकेंगे।

 

राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति योजना के परिणाम की जांच करने के चरण

आप नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करके रिजल्ट चेक कर पाएंगे।

  • रिजल्ट चेक करने के लिए नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप की आधिकारिक वेबसाइट nosmsje.gov.in पर जाएं।
  • साइट पर जाने के बाद आपको रिजल्ट विकल्प पर टैप करना होगा, जो साइट के मुख्य पृष्ठ पर उपलब्ध है।
  • संबंधित विकल्प पर क्लिक करने के बाद आप एक नए पेज पर पहुंच जाएंगे और वहां आपको एनओएस का रिजल्ट सर्च करना होगा और उस पर क्लिक करना होगा।
  • अब अगले पेज पर रिजल्ट पीएफडी फॉर्मेट में खुलेगा और फिर आप पीडीएफ पर अपना नाम, कैटेगरी, कोर्स, यूनिवर्सिटी और रैंक देख पाएंगे।
  • उपरोक्त प्रक्रिया का पालन करके आप नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप का परिणाम देख पाएंगे।

 

नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप (एनओएस) पोर्टल पर लॉग इन करने की प्रक्रिया

पोर्टल में सफलतापूर्वक अपना पंजीकरण कराने के बाद आवेदक पोर्टल में लॉग इन कर सकेंगे। लॉगिन करने के लिए चरणों का पालन करें।

  • अगर आप पोर्टल में लॉग इन करना चाहते हैं तो सबसे पहले नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप के आधिकारिक पोर्टल यानी nosmsje.gov.in पर जाएं।
  • साइट पर जाने के बाद लॉगइन विकल्प पर टैप करें, जिसे आप मुख्य पृष्ठ के शीर्ष पर देख पाएंगे।
  • एक बार जब आप संबंधित विकल्प पर टैप कर देंगे तो आपको एक नए पेज पर ले जाया जाएगा, जहां आपको यूजर आईडी और पासवर्ड जैसे आवश्यक विवरण भरने होंगे।
  • विवरण दर्ज करने के बाद बॉक्स में उल्लिखित सुरक्षा कोड को सत्यापित करें।
  • फिर आपको साइन-इन विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • ऊपर बताई गई प्रक्रिया को फॉलो करके आप लॉगइन प्रक्रिया कर पाएंगे

 

राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति योजना फॉर्म डाउनलोड करने के चरण

  • फॉर्म डाउनलोड करने के लिए नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप के आधिकारिक पोर्टल nosmsje.gov.in पर जाएं।
  • साइट पर जाकर पोस्ट करें और फिर साइट के मुख्य पृष्ठ पर डाउनलोड फॉर्म विकल्प पर क्लिक करें।
  • और फिर नए पेज पर आप अलग-अलग फॉर्म के विकल्प देख पाएंगे और वह फॉर्म चुन पाएंगे जिसे आप डाउनलोड करना चाहते हैं।
  • फिर अगले पेज पर आप आवेदन पत्र की पीडीएफ देख पाएंगे।
  • उपरोक्त चरणों का पालन करके आप सफलतापूर्वक फॉर्म डाउनलोड कर पाएंगे।

 

नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम हेल्पलाइन नंबर

नेशनल ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम या फिर राष्ट्रीय प्रवासी छात्रवृत्ति योजना के तहत आपको किसी भी प्रकार की समस्या है तो आप योजना की अधिकारिक वेबसाइट में दिए हुए हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर सकते हैं। यह हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर 18002021989 या 14566 है। यहां आपको सभी जानकारी मिल जाएगी।

Leave a Comment

Post Office RD Scheme 2024: गजब की है यह स्कीम, हर महीने निवेश पर मिलेगा शानदार रिटर्न गाय गोठा अनुदान महाराष्ट्र 2024: Gay Gotha Yojana Form, लाभ एवं पात्रता महिलाओं के लिए गारंटी रहित 25 लाख तक का ऋण, जानिए क्या है आवेदन प्रक्रिया झारखण्ड अबुआ आवास योजना किसानों को anaajkharid.in पोर्टल पर पंजीकरण करना है जरुरी, वरना नहीं मिलेगा लाभ