ADITI Scheme 2024 : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ‘अदिति योजना’ की शुरुआत की, 25 करोड़ रूपये का अनुदान

ADITI Scheme : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वैश्विक स्तर पर अपने हितों को सुरक्षित रखने के लिए रक्षा आत्मनिर्भरता जरूरी है। इसके साथ ही उन्होंने रक्षा क्षेत्र में जटिल, नायाब और सामरिक लिहाज से उपयोगी तकनीक विकसित करने वाले स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए 750 करोड़ रुपये की अदिति योजना शुरू करने का एलान किया है। योजना के तहत रक्षा क्षेत्र में नवोन्मेषी काम करने वाले स्टार्टअप को 25 करोड़ रुपये तक की आर्थिक मदद दी जाएगी। यह योजना फिलहाल दो वर्ष के लिए है। इसका संचालन रक्षा मंत्रालय के उत्पादन विभाग के तहत किया जाएगा।

DefConnect 2024 में, राजनाथ सिंह ने एडिटी योजना का अनावरण किया, जिसका उद्देश्य रक्षा प्रौद्योगिकी में नवाचार को 25 करोड़ रुपए तक के अनुदान के साथ प्रोत्साहित करना है। इस आयोजन की मुख्य विशेषताओं में डिफेंस इनोवेशन स्टार्टअप चैलेंज (DISC) का 11वां संस्करण और आत्मनिर्भरता पर जोर शामिल हैं। DefConnect 2024: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने नवाचारी प्रौद्योगिकियों के विकास हेतु एडिटी योजना की शुरुआत की

 

ADITI Scheme 2024

योजना का नाम अदिति योजना
शुरुवात किसने की रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जी ने
उद्देश्य महत्वपूर्ण और रणनीतिक रक्षा प्रौद्योगिकियों में नवाचारों को बढ़ावा देना।
अनुदान सहायता रक्षा प्रौद्योगिकी में अनुसंधान, विकास, और नवाचार के लिए अधिकतम 25 करोड़ रुपये तक।
अवधि और बजट 2023-24 से 2025-26 तक कुल 750 करोड़ रुपये आवंटित।
लक्ष्य लगभग 30 डीप-टेक महत्वपूर्ण और रणनीतिक प्रौद्योगिकियों का विकास करना।
ऑफिसियल वेबसाइट जल्दी ही
हेल्पलाइन नंबर जल्दी ही

 

4 मार्च 2024 को नई दिल्ली में आयोजित DefConnect 2024 में, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने iDEX के साथ नवाचारी प्रौद्योगिकियों के विकास को समर्थन देने वाली एडिटी (ADITI) योजना का अनावरण किया। इस योजना का उद्देश्य महत्वपूर्ण और सामरिक रक्षा प्रौद्योगिकियों में नवाचार को बढ़ावा देना है, जिसमें शोध और विकास के लिए स्टार्टअप्स को महत्वपूर्ण अनुदान प्रदान किया जाएगा।

 

अदिति योजना

डेफकनेक्ट 2024 के उद्घाटन के दौरान योजना का एलान करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ ने कहा कि यह योजना रक्षा क्षेत्र में तेजी से आत्मनिर्भरता की तरफ बढ़ने में मील का पत्थर साबित होगी। उन्होंने कहा कि रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनने के लिए तकनीक में एक कदम आगे रहना होगा। इसके लिए एक्टिंग डेवलपमेंट ऑफ इनोवेटिव टेक्नोलॉजी विद आईडेक्ट (अदिति) योजना युवाओं को रक्षा क्षेत्र में नावाचार के लिए प्रोत्साहित करने के लिए शुरू की गई है। उन्होंने देश के युवाओं पर भरोसा जताते हुए कहा कि अगर युवा जुट जाएं, तो आत्मनिर्भर भारत का लक्ष्य जरूर पूरा होगा।

विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना उत्तरप्रदेश

अदिति योजना के तहत 30 डीप-टेक और जटिल सामरिक तकनीक पर काम किया जाएगा। यह योजना रक्षा क्षेत्र की उम्मीदों व जरूरतों के बीच आपूर्ति की दूरी को पाटने का काम करेगी। इसके लक्ष्यों में थलसेना की तीन, नौसेना व वायुसेना की पांच-पांच और डिफेंस स्पेस एजेंसी की चार चुनौतियों को सूचीबद्ध किया गया है। इसके अलावा सम्मेलन के दौरान रक्षा स्टार्टअप के सामने आने वाली 11 चुनौतियों पर चर्चा कर उन्हें दूर करने का ब्लूप्रिंट भी तैयार किया गया है।

 

ADITI योजना का अवलोकन

  • उद्देश्य: महत्वपूर्ण और रणनीतिक रक्षा प्रौद्योगिकियों में नवाचारों को बढ़ावा देना।
  • अनुदान सहायता: रक्षा प्रौद्योगिकी में अनुसंधान, विकास, और नवाचार के लिए अधिकतम 25 करोड़ रुपये तक।
  • अवधि और बजट: 2023-24 से 2025-26 तक कुल 750 करोड़ रुपये आवंटित।
  • लक्ष्य: लगभग 30 डीप-टेक महत्वपूर्ण और रणनीतिक प्रौद्योगिकियों का विकास करना।

 

राजनाथ सिंह के संबोधन की मुख्य बातें

  • युवा नवाचार: सरकार युवाओं में नवाचार को बढ़ावा देने के अपने संकल्प पर जोर दिया।
  • तकनीकी बढ़त: भारत के विकास के लिए तकनीकी बढ़त हासिल करने की महत्वपूर्णता पर बल दिया गया।
  • ज्ञान समाज में परिवर्तन: भारत को एक ज्ञान समाज में परिवर्तित करने की आवश्यकता को उजागर किया।

 

रक्षा भारत स्टार्ट-अप चुनौती (DISC)

  • पहल: 11वें संस्करण का अनावरण किया गया, जिसमें 22 समस्या विवरण पेश किए गए।
  • उद्देश्य: महत्वपूर्ण रक्षा चुनौतियों का समाधान करना और राष्ट्रीय सुरक्षा को मजबूत करना।
  • निमंत्रण: नवप्रवर्तनकों को रक्षा क्षमताओं में योगदान देने वाले समाधान प्रस्तावित करने के लिए आमंत्रित करता है।

 

रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भरता

  • महत्व: राष्ट्रीय हितों के अनुरूप स्वतंत्र निर्णय लेने में आत्मनिर्भरता के महत्व पर जोर दिया गया।
  • सरकारी प्रयास: घरेलू निर्माण को बढ़ावा देने और अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के प्रयासों को उजागर किया गया।
  • खरीद बजट: रक्षा पूंजीगत खरीद बजट का 75% भारतीय कंपनियों के लिए आरक्षित किया गया।

 

iDEX-DIO द्वारा प्रौद्योगिकी प्रदर्शनी

  • आयोजक: iDEX-रक्षा नवाचार संगठन (DIO)।
  • केंद्रित क्षेत्र: कृत्रिम बुद्धिमत्ता, रोबोटिक्स, साइबर सुरक्षा।
  • प्रतिभागी: महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में क्रांति ला रहे स्टार्ट-अप्स।

Leave a Comment

Post Office RD Scheme 2024: गजब की है यह स्कीम, हर महीने निवेश पर मिलेगा शानदार रिटर्न गाय गोठा अनुदान महाराष्ट्र 2024: Gay Gotha Yojana Form, लाभ एवं पात्रता महिलाओं के लिए गारंटी रहित 25 लाख तक का ऋण, जानिए क्या है आवेदन प्रक्रिया झारखण्ड अबुआ आवास योजना किसानों को anaajkharid.in पोर्टल पर पंजीकरण करना है जरुरी, वरना नहीं मिलेगा लाभ